True Friendship? वास्तविक दोस्ती?

नमस्कार दोस्तों, अगर आपके दोस्त वास्तव में दोस्त नहीं है तो फिर आपको यह बात याद रखनी चाहिए कि वह लोग आस्तीन के सांप और बिच्छू की तरह होते हैं जिससे आपके आने वाले कल में गहरा अंधेरा छा सकता है। जब तुम अपनी जिंदगी के जरूरी कामों से ध्यान हटाकर बुरी आदतों में हंसते हो तो इसमें आपकी किसी न किसी मित्र का ही हाथ होता है। आस्तीन के सांप जैसे दोस्तों की वजह से जीवन में कभी ना आप कभी ऐसा काम सीख जाते हैं जो आपकी जिंदगी में दुखों का पहाड़ खड़ा कर सकता है। हम किसी परेशानी से ध्यान हटाने के लिए अथवा सिर्फ मजे के लिए उस काम को करते हैं परंतु धीरे-धीरे वह काम आपकी आदत बन जाता है और फिर आपके जीवन में दुख आने लगते हैं। आज हम अपने जीवन में किस तरह के दोस्तों को जगह देनी है और किस तरह के दोस्तों को जगह नहीं देनी है इस विषय पर चर्चा करेंगे। हम समझने का प्रयास करेंगे की True Friendship क्या होती है ?

An Example Of Friendship :-

आपको एक कहानी के माध्यम से कुछ सिखाने का प्रयास करूंगा। यह कहानी मेरे पिता अक्सर मुझे बचपन में सुनाया करते थे। एक बार एक बिच्छू और एक कछुए में बहुत ही गहरी दोस्ती हो जाती है। दोनों मित्रों की कुछ अपनी अपनी आदतें थी परंतु उनका जीवन जैसे तैसे चल रहा था। एक बार बिच्छू को किसी कारणवश जंगल के दूसरे किनारे पर जाना था। बिच्छू ने देखा कि उस जगह पहुंचने के लिए एक नदी को पार करना पड़ेगा। उसने नदी पर जाकर देखा तो ना ही कोई पुल था और नदी का बहाव बहुत तेज था। वह उतरा हुआ मुंह लेकर वापस कछुए के पास आया और अपनी समस्या बताई। कछुए ने बड़े प्रेम से कहा कि तुम मेरे सबसे खास मित्र हो मैं तुम्हारे लिए इतना तो कर ही सकता हूं। उसने कहा कि तुम मेरी पीठ पर बैठो मैं तुम्हें नदी पार करवा दूंगा। बिच्छू कछुए की पीठ पर बैठ गया और उसको नदी पार करने के लिए कछुआ चलने लगा। क्योंकि बिच्छू आदत से मजबूर था इसलिए वह कछुए को डसने की सोचने लगा। उसने सोचा कि अगर मैंने कछुए को डसा तो इससे कछुआ मर जाएगा और इसके साथ मेरी भी मृत्यु हो जाएगी। उसने पूरा भरसक प्रयास किया खुद को रोकने का परंतु किसी की  बुरी आदतें उस पर कभी ना कभी हावी हो ही जाती हैं। जैसे वह लोग नदी के बीच में पहुंचे बिच्छू ने आदत से मजबूर होकर कछुए को डस लिया और इस तरह कछुआ तड़प कर मर गया। कछुए के मरते ही बिच्छू भी पानी में डूब गया और उसकी भी मृत्यु हो गई।

Learning Of Of The Story :-

दोस्तों इस कहानी से हमें एक बहुत बड़ा सबक सीखने को मिलता है। जिंदगी में ऐसे बहुत सारे मित्र होते हैं जिनकी अपनी खराब आदतें होती हैं। आप उनके लिए कितने भी महापुरुष बन जाओ और उनके भले के लिए सोचो परंतु वह लोग कभी ना कभी आपको नुकसान पहुंचाने वाले काम कर ही डालते हैं। विचारों को इस कदर दूषित कर लेते हैं कि उन्हें इतना भी समझ नहीं आता तुम्हारे साथ साथ उनका भी नुकसान होगा। ऐसे मित्र अक्सर आपको बिना आपके भविष्य की चिंता किए फालतू के सुझाव देने लगते हैं। देखने में उनके सुझाव सही प्रतीत होते हैं परंतु आपकी लंबी जिंदगी में उनका बुरा असर भी हो सकता है।हो सकता है कि आपके दोस्तों की नियत आप को लेकर बहुत साफ हो। हो सकता है वह आपके अच्छे भविष्य से खुशी महसूस करते हो। हो सकता है कि आपके दोस्त दिल की बहुत अच्छें हो परंतु अगर वो खुद सही नहीं है और उनकी आदत ही खराब है, वो खुद नशा करते हैं,वो किसी बुरी लत का शिकार है। आपका ऐसे दोस्तों पर भरोसा करना और उनके साथ रहना बिल्कुल वैसा ही है जैसे कि कछुए और बिच्छू का साथ में रहना।

How to Choose Your Friends :-

अगर आपको अपनी जिंदगी बेहतर बनानी है और सुरक्षित भी रखनी है तो आपको अच्छे लोगों का साथ लेना चाहिए। आपको खुद भी ऐसे लोगों के लिए अच्छा बनकर रहना चाहिए। आपको ऐसे दोस्तों से बिल्कुल दूर रहना है जिनको किसी भी प्रकार की बुरी आदतें हैं। मैं ऐसे मित्र बनाऊंगा जो मुझे और मेरे सपनों को सपोर्ट करते हैं। मैं अपने आपको ऐसी दोस्ती से दूर रखना चाहूंगा जो मुझे जीवन में गलत दिशा दें। मै ऐसी  दोस्ती से बिल्कुल दूर रहूंगा जो मेरे लक्ष्य पर मेरा ध्यान केंद्रित ना होने दें और भविष्य में नुकसान दे सके। तीन  ऐसी चीजें आपको जाननी चाहिए जो सामान्यता एक अच्छे मित्र में होती हैं। अगर जीवन में कोई भी महत्वपूर्ण सलाह लेनी हो तो आप ऐसे मित्र से ले सकते हैं। आपको हमेशा मुश्किल वक्त में ऐसे मित्र का साथ देना चाहिए जिसमें यह गुण पाए जाते हो।
1. एक अच्छा दोस्त हमेशा आपको और आपके सपनों को Support करता है।
2. एक सच्चा दोस्त हमेशा आपको अपनी गलतियों का एहसास बिना डरे कराता है। आपकी गलतियां बताने के साथ-साथ उनके हल भी देने की कोशिश करता है।
3. ऐसे दोस्त को हमेशा आप पर भरोसा होना चाहिए कि जो भी तुम जीवन में पाना चाहते हो उसे पा लोगे और तुम्हारे अंदर वो सारी क्षमताएं विद्यमान है जो उस चीज को पाने के लिए चाहिए।

Conclusion – Purpose of Friendship :-

आपके अच्छे दोस्त कभी भी आपकी भावनाओं का मजाक नहीं बनाते है। चाहे दुख का क्षण हो या फिर खुशी का मौका आपके अच्छे दोस्त कभी भी आपकी कमजोरियों को लेकर मनोरंजन का साधन नहीं बनाएंगे। अपनी छोटी-छोटी खुशियों के लिए कभी भी आपका बुरा करने की नहीं सोचेंगे। अगर आप किसी लक्ष्य तक पहुंचने के लिए कठोर मेहनत कर रहे हो तो आपके दोस्त हमेशा जितना संभव हो सकेगा आपकी मदद करेंगे। आपके अच्छे दोस्त बिना आपकी मेहनत और आपकी इमानदारी जाने आपके फैसले को गलत नहीं बताते। आपके दोस्त आपको सुझाव देने से पहले अगर आपकी जिंदगी के आगे और पीछे के पहलुओं को नहीं सोचते तो फिर ऐसे दोस्तों से सुझाव लेना आपकी मूर्खता होगी। दोस्ती का मतलब सिर्फ मनोरंजन और प्यार नहीं होता बल्कि इसके पीछे बहुत सारी जिम्मेदारियां छुपी होती है।

Thanks

Read More Interesting Articles >> Clickn Here

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *