Success Mantra!

नमस्कार दोस्तों, हमें बचपन से ही यह सिखाया जाता है कि जीवन में अच्छे बनो। हमारे माता पिता अध्यापक और समाज के बड़े लोग कहते हैं कि जीवन में अच्छे बनोगे तो तुम्हारे साथ भी अच्छा ही होगा। आपको सभी से मुस्कुरा कर मिलना चाहिए और लोगों की इज्जत करनी चाहिए। हमें बार-बार समझाया जाता है कि अच्छे का फल हमेशा अच्छा ही मिलता है। यह सब वे चीजें हैं जो एक इंसान को समाज में रहने के काबिल बनाती हैं। इस दुनिया में कुछ ऐसे लोग भी हैं जो मानते हैं कि अगर बड़ा बनना है तो हमें बुरा भी बनना होगा। दोस्तों इस तरह की बातें किस context में कहीं जाती हैं,उसे समझने का प्रयास करेंगे। क्या जीवन में बड़ा इंसान बनने के लिए बुरा बनना जरूरी है? हम समझने का प्रयास करेंगे क्या जीवन में सफल बनने के लिए लोगों से दूर चले जाना वाकई एक Success Mantra है। 

What is Reality Of Success Mantra –

दोस्तों बड़ी सफलता पाने के लिए आप अपने लोगों को हमेशा के लिए ही छोड़ दो यह मेरे नजरिए में बिल्कुल गलत बात है। बड़ा बनने की चाह में अपने आप को लोगों से अलग-थलग कर लेना एक बेवकूफी सी लगती है। दुनिया के अंदर बहुत सारी गलत बातें होती हैं जिन पर सच्चाई की चादर डालकर अक्सर पेश किया जाता है। लोग इन्हीं बातों को अपनी सिद्धांत बना लेते हैं और जीवन जीने का असली मजा भूल जाते हैं। हम अपने जीवन में जितनी भी विचारों को सुनते और देखते हैं धीरे-धीरे वही हमारी सच्चाई बनने लगते हैं। हमारे लिए सच और झूठ केवल वही होता है जो हमारे अपने साथ होता देखा है। कोई इंसान सरकारी नौकरी से अपनी जिंदगी में वह सब प्राप्त कर लेता है,जिसकी ख्वाहिश उसे थी। यह इंसान सामने वाले की परिस्थितियों और व्यक्तित्व को जाने बिना ही उसे सरकारी नौकरी करने का सुझाव देगा। उस व्यक्ति के लिए इस दुनिया में सपने पूरे करने के लिए सरकारी नौकरी ही सबसे उचित साधन है। ऐसा इंसान कभी भी आपको व्यापार करने की सलाह नहीं देगा। ठीक उसी प्रकार जिस इंसान ने अपने जीवन में बिजनेस करके अपनी ख्वाहिशें पूरी की है उसके लिए सरकारी नौकरी मतलब गुलामी करना है। अगर केवल खुद का ध्यान रखें तो दोनों ही इंसान अपनी जगह ठीक है। अगर किसी रास्ते को अपनाकर सफल होने वाला इंसान उस रास्ते को सभी के लिए उचित बताने की कोशिश करता है तो यह नादानी कहलाएगी।

The Definitions of Success –

इस दुनिया में सफलता का मतलब प्रत्येक इंसान के लिए अलग-अलग हो सकता है। किसी इंसान के पास सभी जरूरतें पूरी करने के लिए पैसा उपलब्ध हो तो उसे वह सफलता लगती है। अगर किसी इंसान का सपना अच्छा स्वास्थ्य बनाना है और उसे वह मिल जाता है, उसके लिए वही सफलता है। हम हमारी सफलता को किसी दूसरे इंसान पर थोपे यह एक बेवकूफी भरा फैसला है। जब हमने किसी क्षेत्र में सफलता प्राप्त की तो हमारी अलग परिस्थितियां थी और उस परिस्थिति के प्रति हमारा नजरिया भी अलग था। इस सफलता के लिए मेहनत कर रहे थे उस सफलता का मतलब भी हमारे लिए औरों से बिल्कुल अलग होता है। अगर किसी इंसान को कंपनी में नौकरी करने का अच्छा अनुभव नहीं रहा तो वह कभी भी दूसरे लोगों को नौकरी करने की सलाह नहीं दे सकेगा। वास्तव में इस दुनिया के अंदर बहुत लोगों के लिए वही नौकरी महत्वपूर्ण होती है और उससे प्यार करते हैं तो कुछ लोगों के बुरे अनुभव उसे नफरत योग्य बना देते हैं।

चलिए अब बात करते हैं इस सिद्धांत की बुरे बनोगे तभी सफल हो पाओगे। इस प्रकार के सिद्धांत केवल वही लोग देते हैं जिनका अपने आप पर और अपनी अंतरात्मा पर वश ना चलता हो। आप अपनी जिंदगी में क्या देखना चाहते हो यह बहुत ज्यादा महत्व रखता है। अगर आप एक Happy जिंदगी और खुशियों से भरी जिंदगी चाहते हो तो,फिर आप बुरा बनकर उस मुकाम तक पहुंच जाओगे, मूर्खता से भरी हुई सोच है। अपने लोगों से बिना किसी वजह रिश्ता तोड़ कर सुकून से जीने की कोशिश करना बेवकूफी है। माली जी आप अपने परिवार या फिर चाहने वाले लोगों से दूर होकर शोहरत हासिल भी कर लेते हो तो फिर उसकी खुशियां किसके साथ बांटोगे।

Matters a Lot what we really want –

दोस्तों सफलता के बाद हम चाहते क्या हैं यह बहुत ज्यादा मायने रखता है। अपनी जिंदगी में पैसा कमा कर खुशी हासिल करना चाहते हैं अथवा आप सिर्फ पैसा कमाना चाहते हैं? अगर आपको सिर्फ पैसा कमाना है पर वास्तविक खुशियां हासिल नहीं करनी है तो फिर आप इस रास्ते को अपना सकते हो अर्थात आप लोगों से दूर हो सकते हो और ढेर सारा पैसा कमा सकते हो। अगर आपको जीवन में खुशी चाहिए पैसा चाहिए तो फिर आपको अपने लोगों के साथ रहकर ही लक्ष्य पर मेहनत करने की जरूरत है। मेरा वास्तविक मतलब है अगर आपको कुछ दिन के लिए अपने लोगों से दूर रहना पड़े तो इसमें कोई दिक्कत नहीं है परंतु आप पैसे और शोहरत के लिए हमेशा के लिए उन्हें छोड़ दें यह बेवकूफी है। कई बार हमें अपने साथ वक्त बिताने की जरूरत होती है, खुद से बातें करने और अपने कामों को निर्धारित करने की जरूरत होती है। ऐसे वक्त में आपकी जिम्मेदारी बनती है कि आप अपने लोगों को समझा कर कुछ वक्त के लिए अपने आप को खुद के हवाले कर दें।

Final Example To Understand The Reality –

आप ऐसे बहुत सारे लोगों को देखते होंगे जिन्होंने जिंदगी भर मेहनत करके,अपनों से दूर रहकर खूब सारा पैसा कमाया,शोहरत बनाई और आखिर में वे कभी खुशी हासिल नहीं कर पाए। पैसा शोहरत और सारी चीजें होने के बावजूद भी इन लोगों को अपनी जिंदगी खुद के हाथों खत्म करनी पड़ी। इस चीज को समझने के लिए आप रोबिन विलियम्स का उदाहरण ले सकते हैं। इन्होंने अपनी जिंदगी में वह सब कुछ हासिल किया जिसका इन्होंने सपना देखा था। वे बेस्ट कॉमेडियन बनना चाहते थे इन्होंने बनकर दिखाया, वे फिल्मों में काम करना चाहते थे उन्होंने वह भी करके दिखाया। कॉमेडियन होने के बावजूद भी‌‌ वह,फनी ना होने का अवार्ड लेना चाहते थे,उन्होंने ले कर दिखाया। परंतु सब कुछ करने के बावजूद भी इन्होंने अपने आप को फांसी लगाई और मृत्यु को प्राप्त हो गए। इन्होंने अपनी जिंदगी में खुशी और सुकून के अलावा सब कुछ हासिल कर लिया था।

Thanks

Read More Interesting Articles – Click Here

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *