असफलताओं का सम्मान करना कितना जरुरी है ? Respect Your Failures

Respect Your Failures

0

नमस्कार दोस्तों,

Respect Your Failures:- आज किस Blog में आपको बताऊंगा कि आपको अपनी हार का भी सम्मान करना आना चाहिए। आप सोच रहे होंगे मैं यह कैसी हारने वाली बातें कर रहा हूं तो दोस्तों जीवन में असफलता दो प्रकार की होती है -एक तो वह जब किसी कार्य में आप पूरे दिल और दिमाग से मेहनत करते हैं और असफल हो जाते हैं और दूसरी वह जहां पर आप ने कुछ Effort ही नहीं किया और आप फेल हो गए । दोस्तों मेरा यह ब्लॉग Ujjwal Patni Show से Inspired है।उम्मीद करता हूं आपको बहुत कुछ सीखने को मिलेगा।

1. Failure After Right Research –

दोस्तों अगर आप अपना एक बिजनेस शुरू कर रहे हैं और आपने अच्छी तरह से मार्केट रिसर्च किया है, आपने कस्टमर की डिमांड को ध्यान में रखा है, आपने प्रोडक्शन की लोकेशन को ध्यान में रखा है, आपने सेवा या उत्पाद की बाजार में पहले से उपलब्धता का ध्यान रखा है और बिजनेस से जुड़े हुए सभी पैरामीटर्स को पूरी तरह रिसर्च किया है और उसके बाद भी आप बिजनेस में फेल हो जाते हैं तो इस असफलता का सम्मान करना चाहिए। अगर आपने इन सभी चीजों की प्लानिंग नहीं की है और आप बिजनेस शुरू कर देते हैं तब फेल होने पर इस असफलता का कोई सम्मान नहीं होना चाहिए।

2.Failure After Proper Planning –

मित्रों कैसे भी बिजनेस या काम को शुरू करने से पहले उस में आने वाली संभावित समस्याओं का हल ढूंढना, प्रत्येक चीज की Possibility को पहले से ध्यान में रखना । यह जरूरी नहीं कि आपको पहली बार में ही सफलता मिल जाए हो सकता है आप सफल हो जाए ऐसे में आपको वहां पर रुकना नहीं है बल्कि अलग-अलग संभावनाओं को तलाश करते रहना है। हम एक या दो कोशिश एक करके उस काम को छोड़ देते हैं और असफल हो जाते हैं। दोस्तों आप संभावना की तलाश में अगर लगातार असफल होते हैं, आपके कार्य योजना और प्रयास अच्छे हैं फिर भी आप असफल हो जाते हैं तो इस असफलता का सम्मान होना चाहिए। जब हम पहले से ही मान लेते हैं कि हमारी कोई मदद नहीं करेगा और ऐसा सोचकर हम मदद भी नहीं मांगते हैं । ऐसा इसलिए होता है क्योंकि आप प्रयास करना ही नहीं चाहते और ना ही अब जिम्मेदारी उठाना चाहते हैं। ऐसी परिस्थितियों में आप अगर असफल होते हैं तो उसका बिल्कुल भी सम्मान नहीं होना चाहिए।

3. Failure After Plan B –

दोस्तों सड़क चाहे कितनी भी साफ और अच्छी हो परंतु एक समझदार ड्राइवर हमेशा अपनी गाड़ी के साथ एक Extra टायर रखता है। जब हम विदेशों में घूमने जाते हैं तो अपनी कागजात की 5-5 फोटोकॉपिया रखते हैं। ऐसे ही अलग-अलग वस्तुओं को हम Extra क्यों रखते हैं? क्योंकि किसी भी प्रकार की समस्या आने पर हम इनको Plan B की तरह इस्तेमाल कर सकें। कोरोना की महामारी के दौरान लाखों लोगों ने अपनी नौकरियां गवा दी परंतु कुछ लोगों के पास इसको लेकर भी Plan B था।
इन लोगों ने समय रहते हैं उन्हें स्किल्स को सीखा, अपने आप में वह बदलाव किया जिसकी वजह से उनको ऐसी परिस्थिति में भी नौकरी से नहीं निकाला गया वो,बल्कि नौकरी से निकाल देने पर भी उनको दूसरी जगह अच्छी नौकरी मिल गई ।
अगर आप Plan B तैयार रखते हैं और उसके बावजूद भी आप असफल हो जाते हैं,तो इस असफलता का भी जरूर सम्मान और आदर होना चाहिए।

4. Failure After Hard Work –

मैंने बहुत सारे स्कूल और कॉलेज के विद्यार्थियों को देखा है जिनको अच्छी प्रकार से पता होता है कि साल के अंत में परीक्षाएं होंगी परंतु वे लोग फिर भी पढ़ाई नहीं करते हैं। वह लोग तब पढ़ाई करते हैं जब उनकी परीक्षा का Time Table आ जाता है,और ऐसी परिस्थिति में अगर वो Fail हो जाते हैं तो उनके इस Failure का बिल्कुल भी सम्मान नहीं होना चाहिए । शायद ही ऐसा कोई विद्यार्थी होगा जिसको मालूम ना हो स्कूल और कॉलेज के Exams कब आते हैं,परंतु फिर भी वे लोग पूरा साल बर्बाद कर देते हैं, और अंत में उनको Failure हाथ लगता है ।
जो विद्यार्थी अपनी क्षमताओं और ईमानदारी को ध्यान में रखते हुए पूरे साल पढ़ाई करते हैं अगर वह किसी कारणवश असफल हो जाते हैं,तो उनका जरूर सम्मान और आदर होना चाहिए क्योंकि उन्होंने आवश्यक कदमों को सही समय पर उठाया। दोस्तों अगर आप तो दिए गए समय के अनुसार अपने काम पर मेहनत नहीं करते हैं तो यह एक मूर्खतापूर्ण असफलता होगी, जिसका किसी भी हालत में सम्मान नहीं होना चाहिए। लोग अपना काम तब शुरु करते हैं,जब उनके सर पर Deadline आ जाती है,जिसको किसी भी नजरिए से समझदारी नहीं कहा जा सकता है। दोस्तो आप अपने मित्र को बहुत वक्त से कंघी देने की सोच रहे हैं, परंतु आप वह कंघी उस वक्त देते हैं,जब उसके बाल झड़ जाते हैं और वह गंजा हो जाता है । ऐसी परिस्थितियों में आपको निरादर और बेइज्जती के अलावा कुछ नहीं मिलेगा।

4. Failure After Taking Good Guidance –

मित्रों अक्सर मां बाप अपने बच्चों को कहते हैं कि ज्यादा सोशल मीडिया का इस्तेमाल मत करो और अपनी पढ़ाई पर ध्यान दो तो ऐसे में वह लोग उनकी सलाह पर ध्यान नहीं देते हैं। ‌ अपने माता-पिता को उल्टा जवाब देते हुए कहते हैं कि आपको हमारी जिंदगी में उलटफेर करने की आवश्यकता नहीं है और अगर किसी वजह से उनको डांट दिया जाता है तो फिर वह लोग मरने के लिए उतारू हो जाते हैं। आपके मां-बाप अपने पास उपलब्ध ज्ञान के अनुसार सबसे बेहतरीन सलाह आप को देते हैं। अगर उनकी सलाह से आपकी जिंदगी में या फिर आपके लक्ष्य में वाकई कोई सुधार नहीं आ रहा है,तो आपको उनका अनादर नहीं करना चाहिए,बल्कि उसको स्वीकार करना चाहिए और सम्मान पूर्वक उनका धन्यवाद करना चाहिए।
अगर आप जीवन में अच्छे लोगों की सलाह लेने के बावजूद भी फेल हो जाते हैं तो इस असफलता का वाकई में सम्मान होना चाहिए । ना ही अच्छे लोगों की संगत में रहते हैं,ना ही अच्छे लोगों से सलाह लेते हैं और जिंदगी में Fail हो जाते हैं,तो इस Failure का 1% भी सम्मान नहीं होना चाहिए।
आपके शरीर में कोई बीमारी हुई और आप डॉक्टर की सलाह लेने गए ही नहीं, आप एक अच्छे खिलाड़ी हैं और आपने कभी किसी Coach से‌ Training ही नहीं ली,आप एक बुद्धिमान इंसान है परंतु आपने कभी स्कूल या कॉलेज की शक्ल ही नहीं देखी, आपके जीवन में उथल-पुथल मची हुई थी और आपने अपने माता-पिता से या फिर अच्छे दोस्तों से सलाह ही नहीं ली । इतना सब होने के बाद आप असफल हो जाते हैं तो इसका जिम्मेदार किसी और को ठहराने का प्रयास बिल्कुल मत करिए।आपको ना ही अपने सपनों से प्यार है और ना ही आप समस्या को सुलझाना चाहते हैं।

अगर आपने अपना Goal Decide करके उसके लिए Planning नहीं की है और उसकी Deadline नहीं रखी है, तो आपको किसी और पर असफलता की जिम्मेदारी थोपने का कोई अधिकार नहीं है। अगर आप यह ब्लॉग पढ़ने के बाद भी अपने आप को नहीं बदलते हैं तो समझ लीजिए आप से बड़ा मूर्ख इंसान इस संसार में कोई नहीं है और आप अपने आप को लगातार बेवकूफ बना रहे हैं।

धन्यवाद !

Read More Articels>>

Leave A Reply

Your email address will not be published.