Three Things to Be Learn For Successful Life In 2022

सफलता पाने के तीन अचूक मूल मंत्र | (Three Things to Be Learn For Successful Life In 2022)

नमस्कार दोस्तों ,

आज के इस ब्लॉग में मैं तीन ऐसे मूल मंत्रों के बारे में बात करना चाहूंगा जो ( Things to Be Learn For Successful Life In 2022 ) आपके जीवन में बहुत महत्वपूर्ण स्थान रखते हैं । वैसे तो कामयाबी के रास्ते पर पढ़ने के लिए हमें बहुत सारी चीजों की आवश्यकता होती है,परंतु कुछ ऐसे गुण होते हैं जो हमारे अंदर होने ही होने चाहिए । फेमस ब्लॉक में ऊंची से पर बात नहीं करेंगे कि आपको क्या नहीं करना चाहिए बल्कि हम सकारात्मक नजरिया अपनाते हुए उन चीजों पर बात करेंगे जो आपको जरूर करनी चाहिए ।
मैं आज आपको Habits,Daily Routine and Positive Thinking इन तीन चीजों की जीवन में आवश्यकता पर बात करने वाला हूं । मुझे उम्मीद है कि आप इन तीन चीजों को अपना कर अपने जीवन को और अधिक बेहतर बनाएंगे ।

1. Habits –

हमारे जीवन में आदतों का एक महत्वपूर्ण स्थान है । हम सुबह से लेकर के शाम तक जो भी चीज है सचेतन या अचेतन रूप से करते हैं वह सभी हमारी आदतों की वजह से होता है । हमारे आने वाली जिंदगी कैसी होगी या हमारी आदतों पर निर्भर करता है । हम आने वाले समय में एक महान इंसान बन कर उठेंगे या फिर असफलता को प्राप्त करेंगे यह दोनों ही चीजें हमारी आदतों से तय होती है । हमारा दिमाग कभी भी अच्छी और बुरी आदतों में फर्क नहीं कर पाता बल्कि यह जिस भी आदत को सीख जाता है उसको तोड़ना बहुत मुश्किल हो जाता है । इसलिए जीवन में हमेशा अच्छी आदतें बनाने की कोशिश करनी चाहिए । आज से 5 साल बाद हम किन परिस्थितियों में होंगे यह भी हमारी आदत ही तय करती हैं । जब हम अपने जीवन का कोई लक्ष्य सोचते हैं तो उसी वक्त हमें यह भी सोच लेना चाहिए कि हमें किन-किन आदतों को अपनाना पड़ेगा जो हमें लक्ष्य को प्राप्त करने में सहायता करेंगी । एक बात का हमेशा ध्यान रखना चाहिए कि किसी भी आदत को अचानक से खत्म नहीं किया जा सकता ना ही बनाया जा सकता है । कभी भी बड़ी आदतों को एकदम से बदलने की कोशिश नहीं करनी चाहिए बल्कि हमें छोटी-छोटी आदतों को बदलना चाहिए । जब हम छोटी-छोटी आदतों को बदल लेते हैं तो हमारे अंदर एक प्रकार का आत्मविश्वास जागृत होता है और हम फिर बड़ी आदतों को भी आसानी से बदल सकते हैं ।
इसलिए जब भी हम कोई अच्छी आदत विकसित करना चाहते हैं तो हमको इस आदत को एक निश्चित पैटर्न में रोजाना दोहराना पड़ता है । एक समय ऐसा आता है जब हमें सचेतन रूप से उस आदत या उस काम को नहीं करना पड़ता है बल्कि वह ऑटो पायलट मोड में आ जाती है । आलू तू के बारे में एक अच्छी बात यह है कि किसी के अंदर भी यह जन्मजात नहीं होती है बल्कि इनको एक Skill की तरह सीखा जा सकता है ।

2. Routine –

छोटी-छोटी आदतें मिलकर हमारी दिनचर्या को तय करती हैं । अगर आप किसी सफल और असफल इंसान की तुलना करेंगे तो आपको सबसे बड़ा फर्क उनकी आदतों और दिनचर्या में दिखाई देगा । प्रत्येक इंसान को दिन में 24 घंटे मिलते हैं और इन 24 घंटों को एक इंसान किस तरह बिताता है की है, यह उसके आने वाले भविष्य को निर्धारित करता है ।
जब हमारी दिनचर्या में अच्छी आदतें शामिल होती हैं तो हम टाइम को अच्छे से मैनेज कर पाते हैं और सफलता की तरफ कदम बढ़ने लगते हैं । जब हम हमारी दिनचर्या बनाते हैं तो उसने हमारे प्रत्येक काम को लेकर के Consistency शामिल होनी चाहिए । हमारी दिनचर्या में वह सारी चीजें शामिल होनी चाहिए जो हमारे जीवन को प्रतिदिन और अधिक बेहतर बनाती है ।
आपकी दिनचर्या में काम के साथ-साथ कुछ ऐसी आदतें भी होनी चाहिए जो आपको शारीरिक और मानसिक रूप से विकसित करें । योगा,व्यायाम या फिर ध्यान करना ऐसी ही आदतें हैं जो आपको काम करने के लिए ऊर्जा और मानसिक शक्ति प्रदान करती हैं ।
यह भी जरूरी है कि आपके द्वारा बनाई गई दिनचर्या को आप समय-समय पर रिव्यू करते रहे , क्योंकि इससे आपको पता लगेगा कि आपने जो Routine बनाया है वह पूरी तरह से फॉलो हो रहा है या नहीं हो रहा है ।
अगर आप दिनचर्या बनाने के बावजूद भी बार-बार से भटक जाते हैं तो आपको अपना आत्मविश्वास नहीं खोना है बल्कि नई ऊर्जा के साथ फिर से शुरुआत करनी है । कोशिश करें कि दिन की शुरुआत व्यायाम और अच्छे नाश्ते से करें जिससे आपको पूरे दिन किसी भी काम को करने के लिए ऊर्जा की कमी महसूस ना हो । आप के जितने भी कठिन काम है उनको दिन के पहले हिस्से में निपटा लें क्योंकि इस वक्त हमारे शरीर में ऊर्जा का स्तर काफी उच्च होता है ।
हमेशा ऐसे लोगों के साथ समय बिताने की कोशिश करें जिनकी दिनचर्या Productivity से भरी हुई हो । इससे आपको भी लगातार काम करने की प्रेरणा मिलती रहेगी । जब हम आलसी और हारे हुए मन के लोगों के साथ समय बिताते हैं तो हमारे अंदर भी वैसे ही लक्षण विकसित होने लगते हैं ।
इसलिए आज ही अपनी एक अच्छी दिनचर्या बनाएं और उस पर तब तक पूरी ईमानदारी से काम करते रहें जब तक कि वह आपकी आदत में ना आ जाए ।

3. Positive Thinking –

सफलता के रास्ते में जब भी मुश्किलें आती हैं,तो हमारा आत्मविश्वास और हमारा सोचने का नजरिया यह तय करता है कि हम उस मुश्किल से कितनी जल्दी निपट लेंगे या फिर उससे डर कर बैठ जाएंगे ।
“जिन लोगों की सोच सकारात्मक होती है वह लोग मुश्किल समय में भी संभावनाएं आसानी से तलाश लेते हैं जबकि नकारात्मक सोच वाला व्यक्ति छोटी सी समस्या आने पर भी घबरा जाता है और सफलता के रास्ते से पीछे हट जाता है ।”
सकारात्मक नजरिया होने का एक फायदा यह भी है कि जब लोग आपको निर-उत्साहित करेंगे तब भी आप बिना आत्मविश्वास को खोये लक्ष्य की तरफ लगातार बढ़ते रहेंगे और ईमानदारी से मेहनत करते रहेंगे । सकारात्मक सोच वाले व्यक्ति को चाहे कोई कितना ही डिमोटिवेट कर ले, उसको अपने काम पर विश्वास होता है और आने वाली मुसीबतों का हल खोजने की क्षमता भी होती है।

अब बात आती है सकारात्मक नजरिया या फिर सोच को कैसे विकसित करें ?

सकारात्मक सोचे नजरिया कोई गॉड गिफ्टेड चीज नहीं है,इसको हम अपने व्यवहार में कुछ आदतों को लाकर की सीख सकते हैं । हमारा नजरिया बहुत हद तक इस बात पर निर्भर करता है कि हम क्या चीज से देखते हैं,क्या चीजें पढ़ते हैं,कैसे लोगों के साथ समय व्यतीत करते हैं । इसलिए हमेशा ऐसे लोगों के साथ रहे जिनके अंदर सकारात्मक सोच हो और जो लोग जीवन में आने वाली परेशानियों से पूरे आत्मविश्वास से लड़ रहे हो । आपको महान लोगों की जीवनी या पढ़नी चाहिए और उनसे प्रेरणा लेनी चाहिए । आपको ऐसे लोगों के बारे में पढ़ना चाहिए जो लोग जीवन में भयंकर कठिनाइयों के बावजूद भी सफलता के शिखर तक पहुंचे और उन्होंने अपने आत्मविश्वास के दम पर जीवन में आने वाली हर समस्या को कुचल डाला ।

मुझे उम्मीद है आपको हमारा यह मोटिवेशन से भरा ब्लॉग पसंद आया होगा | 

धन्यवाद !

Read More Articles>>>

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *