जीवन में कठोर फैसले लेने का महत्त्व और जरुरत | The Art Of Taking Tough Decisions In Life

नमस्कार दोस्तों,

The Art Of Taking Tough Decisions In Life:- प्रिय मित्रों आपको पता होगा जिंदगी में कड़े फैसले वही इंसान लेता है जिसके पास फैसले लेने के लिए सही समझ और ज्ञान होता है। आपने मेरे पिछले ब्लॉग “किताबों का महत्व” में पढ़ा होगा कि ज्ञान हमारी जिंदगी में कितनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है । एक बात आपने सुनी भी होगी कि जो इंसान जितने कड़े फैसले लेता है वह इंसान जीवन में उतनी बड़ी सफलताओं को प्राप्त करता है ।

⍟ दोस्तों जब भी आपको कोई फैसला लेना होता है,तो यह वह घड़ी होती है जब आपको आकलन करना होता है कि आपने जीवन में कितना महत्वपूर्ण ज्ञान प्राप्त किया है, आपने अपनी बुद्धि को कितना विकसित किया है । किसी भी क्षण कोई भी फैसला अत्यंत महत्वपूर्ण होता है क्योंकि उसी फैसले पर आपकी बची हुई जिंदगी चलने वाली होती है।दोस्तों फैसला लेने की वक्त आपको दो लगभग समान चीजों में से किसी एक चीज को चुनना होता है । सामान्य तौर पर देखने में वह दोनों चीजें आपको बराबर महत्वपूर्ण दिखाई देती हैं परंतु जिस व्यक्ति को दोनों विकल्पों के बारे में गहराई से जानकारी होती है वह आसानी से फैसला ले सकता है ।

1. A Story Will Teach You A Lot –

⍟ मित्रों एक छोटी सी कहानी को समझने का प्रयास करते हैं। एक बार एक बकरी चराने वाला इंसान था ‌। मैं जंगल में बकरियां चरा रहा था तो उसको अचानक एहसास हुआ कि उसकी एक बकरी सामने वाले पहाड़ पर चली गई है । मैं उस बकरी को ढूंढता हुआ पहाड़ की चोटी तक पहुंच गया। उसको वहां पर अपनी बकरी तो मिली नहीं परंतु उसने नोटिस किया की थोड़ी दूर पर एक लकड़बग्घा उसकी तरफ घूर रहा है । उसके पास इतना वक्त नहीं था कि वह भागकर पहाड़ से नीचे उतर जाए ‌। उसने अपने बगल में देखा तो एक गहरी खाई थी । उसके पास सिर्फ 30 सेकंड थे एक निर्णय लेने के कि उसको यहां पर खड़ा रहना है अथवा खाई में कूदना है । उस इंसान ने खाई में ध्यान से देखा तो उसको कुछ झाड़ियां और पेड़ दिखाई दिए। उसने बिना एक पल गंवाए उस खाई में छलांग लगा दी ।
⍟ यहां पर समझने वाली बात यह है कि अगर वह है इंसान वहां पर 30 सेकंड और खड़ा रहता और कोई फैसला नहीं ले पाता तो लकड़बग्घा उसका शिकार कर चुका होता । परंतु उस व्यक्ति ने अपने बुद्धि और विवेक का उपयोग कर उस विकल्प को चुना जहां पर जान बचने की संभावना ज्यादा थी । एक तरफ तो उसका मरना तय था, परंतु दूसरी तरफ कहीं ना कहीं 2 प्रतिशत संभावना थी कि उसके कुछ अंग टूटेंगे परंतु उसकी जान बच जाएगी ।

2. Impact on Work And Relationship –

दोस्तों केवल दूसरों के जीवन की चकाचौंध को देखकर हमें कुछ भी करने का फैसला नहीं लेना चाहिए बल्कि अपनी क्षमता और अपने ज्ञान के अनुरूप कार्यों को चुनना चाहिए । अगर आपके अंदर किसी प्रकार की कोई कमी दिखाई देती है तो कार्य शुरू करने से पहले आपको उस कमी को मिटाना होगा,अन्यथा आपके फैसला लेने के बावजूद भी आप उस कार्य पर लंबे समय तक टिक नहीं पाएंगे ।

दोस्तों रिलेशनशिप की बात करें – अगर सामने वाला इंसान अपने मन में लक्ष्य बना कर बैठा है कि उसको शादी के बाद किसी दूसरे देश में जाकर रहना है और आप किसी भी परिस्थिति में अपने माता-पिता को नहीं छोड़ सकते तो ऐसी स्थिति में आप को कड़ा फैसला लेना पड़ सकता है।
ऐसी स्थिति में आप को अंतिम संभावनाओं को ध्यान से देखना होगा कि क्या अच्छा हो सकता है और क्या बुरा हो सकता है ।
फैसले लेते वक्त हमको कई बार यह नहीं सोचना चाहिए कि कहां पर हमारा ज्यादा फायदा है,बल्कि हमें यह सोचना पड़ता है कि कहां पर हमारा कम से कम नुकसान हो रहा है ‌।

3. Why We Need To Take Tough Decisions ?

⍟ जब भी आप कोई मुश्किल फैसला लेते हैं तो उससे पता चलता है कि आपके अंदर कितना आत्मविश्वास है , आप किसी भी कंफ्यूज करने वाली स्थिति में अपने आप को कितना मैनेज कर पाते हैं । बार-बार कठोर निर्णय लेने से आपके अंदर भविष्य में कड़े फैसले लेने की क्षमता और अधिक बढ़ जाती है । अगर आपके सामने अचानक कोई विकट संकट उपस्थित हो जाता है तो, आप घबराने की बजाए एक अच्छा निर्णय ले पाने में सक्षम हो पाते हैं ‌। आप किसी भी भयानक संकट की स्थिति में अपने अस्तित्व को बचाने में कामयाब होने लग जाओगे ।
⍟ अगर आप कठोर फैसले लेते वक्त बार-बार लोगों से सलाह लोगे तो आपको समझ जाना चाहिए कि आपके अंदर आत्मविश्वास की बेहद कमी है और यह चीज जीवन यात्रा में बहुत ज्यादा कष्टदायक हो सकती है।
अपने फैसले स्वयं लेने पर आपके अंदर उन फैसलों को सही साबित करने की एक इच्छा जन्म ले लेती है । आपके अंदर खुद के चुने रास्तों को सही ठहराने का एक स्वाभिमान पैदा हो जाता है ।
⍟ जिन लोगों के अंदर महत्वपूर्ण और कड़े फैसले लेने की क्षमता नहीं होती है वह लोग अक्सर अच्छी opportunities को खो देते हैं और उनके पास पछताने के अलावा कुछ नहीं बचता है । ऐसे लोग एक साधारण सा फैसला लेने में भी इतना वक्त बर्बाद कर देते हैं कि बाद में उस फैसले का कोई महत्व ही नहीं रह जाता और कीमती जीवन का समय व्यर्थ चला जाता है।

4. Is Sacrifice Important?

⍟ मनुष्य जब भी अपने जीवन काल में कोई कड़ा फैसला लेता है तो उस वक्त उसको किसी चीज की कुर्बानी देनी पड़ती है। जिस इंसान को कुर्बानी देने की कला आती है,अर्थात चीजों का महत्व पता होता है कि कौन सी चीज जीवन में प्राथमिकता पर रखनी है और कौन सी चीज कुर्बानी देने लायक है तो कड़ा फैसला लेने में कोई भी समस्या नहीं आती है। दुनिया के अंदर जितने भी महान लोग आपको प्रतीत होते हैं उन सभी ने अपने जीवन में कभी ना कभी कठोर फैसले लिए थे और अपने कीमती चीजों की कुर्बानी भी दी थी । मेरा मानना है कि बिना कीमत चुकाए आपको जीवन में कुछ भी नहीं मिलता है । अगर आप आज कोई गलत फैसला लेते हैं तो आप यह बिल्कुल ना सोचे कि आपको कोई कीमत नहीं चुकानी पड़ेगी बल्कि आप पहले से ही गलत फैसला लेकर अपने कीमती वक्त को कुर्बान कर चुके हैं ।
कठोर फैसले लेने पर आपको प्रारंभ में थोड़ा कष्ट भोगना पड़ता है परंतु आने वाला भविष्य सुनहरा बन जाता है जबकि आसान चीजों को चुनने पर आपके अंदर कठिनाइयों से लड़ने की ताकत नष्ट हो जाती है ।

⍟ प्रिय दोस्तों जब भी आप अपने फैसलों से बनाई हुई अपनी राह चलते हैं, तो उस पर चलने में आपको गर्व महसूस होता है पर आप सीना चौड़ा करके समस्याओं से लड़ते हुए आगे बढ़ते हैं। आपका जीवन बहुत लंबा है और इसमें बहुत बार आपको कड़े फैसले लेने पड़ेंगे इसलिए आज से ही छोटे-छोटे फैसले लेने की आदत बना लो जिससे सही वक्त पर एक बड़ा फैसला भी आप ले सको । अपने अंदर चीजों को समझने का ज्ञान विकसित करें और अपनी बुद्धि को तीक्ष्ण बनाने का प्रयास करें।

धन्यवाद !

Read More Articels>>

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *