Mulayam Singh Yadav Biography In Hindi : मुलायम सिंह यादव जीवनी

Biography of Mulayam Singh Yadav In Hindi

आज के इस ब्लॉग में हम यहाँ पर Mulayam Singh Yadav Biography के बारे में विस्तार से बताने वाले हैं, जिससे आपको Polity Current Affairs में काफी मदद मिलेगी। यहाँ पर मुलायम सिंह यादव के उन किस्सों के बारें में बाते करेगे जिनको लोग बिलकुल नहीं जानते परन्तु बहुत महत्वपूर्ण हैं। इस ब्लॉग मे हम Mulayam singh yadav education, Mualyam Singh yadav Birth Place, Mulayam singh yadav political career and mulayam singh Yadav Family के बारें में बतायेगे।

Politics में कई किस्से तो ऐसे भी बन जाते हैं जब एक व्यक्ति ही पार्टी की Identity बन जाता है। उसी के दम पर जीत के दांव लगाए जाते हैं। सैफई के अखाड़े में पहलवानों को मात देने वाले Samajvaadi Party के पुरोधा Mulayam Singh Yadav ने पहलवानी के साथ ही सियासत में कदम रखा था। 60 के दशक में सियासी अध्याय का पहला पन्ना लिखा गया।

Starting Life Of Mulayam Singh Yadav:Mulayam singh Yadav Biography:

मुलायम सिंह यादव प्रारंभिक जीवन 

Mulayam Singh Yadav का जन्म Uttar Pradesh के इटावा जिले के सैफई में 22 नवम्बर, 1939 को हुआ था। इनके पिता का नाम सुघर सिंह और माता का नाम मूर्ति देवी है।

अपना राजनीती करियर शुरू करने से पहले Mulayam Singh Yadav आगरा विश्वविद्यालय से राजनीति विज्ञान (political Science) में Postgraduate (M.A.) और B.T. करने के बाद इंटर कॉलेज में lecturer नियुक्त हुए। लेकिन राजनीति में करियर शुरू करने के बाद उन्होंने अपने प्रवक्ता पद से इस्तीफा दे दिया। 10 अक्टूबर 2022 को मुलायम सिंह जी का काफी लम्बी बीमारी के कारण निधन हो गया।

Mulayam Singh Yadav Education:Mulayam Singh Yadav Biography:

मुलायम सिंह यादव की शिक्षा

राजनीति में आने से पूर्व मुलायम सिंह यादव बतौर Teacher अध्यापन का कार्य करते थे। उन्होंने अपना शैक्षणिक करियर Karhal क्षेत्र के Jain Inter College से शुरू किया था। दरअसल 1955 में मुलायम सिंह यादव ने जैन इंटर कॉलेज में कक्षा नौ में प्रवेश लिया था। यहां से 1959 में इंटर करने के बाद 1963 में यही सहायक अध्यापक के तौर पर अध्यापन का कार्य शुरू कर दिया था। जानकार बताते हैं कि उस दौर में उन्हें 120 रुपए मासिक वेतन मिलता था। उन्होंने हाई स्कूल में Hindi और इंटर में Social Science पढ़ाया। 

Political Career Of Mulayam Singh Yadav:

मुलायम सिंह यादव का राजनैतिक दौर 

  •  उन्होंने अपने राजनैतिक सफर की शुरुआत सबसे पहले राज्य में एक विधायक के रूप में की विधायक के रूप में चुने जाने के बाद धीरे-धीरे Mulayam Singh Yadav जी पुरे राज्य भर में नजर आने लगे। राजनीती के क्षेत्र में कदम रखने के बाद मुलायम सिंह यादव ने राज्य में अन्य पिछड़ा वर्ग के समाज का सामाजिक स्तर ऊपर उठाने के लिए कई महत्वपूर्ण कार्य किये। जिससे OBC वर्ग के सभी नागरिकों का विकास हो सके।
  • Mulayam Singh Yadav समाजवादी नेता रामसेवक यादव के प्रमुख अनुयायी शिष्य थे। इन्ही के आशीवार्द से वर्ष 1967 में मुलायम सिंह प्रथम बार विधान सभा के सदस्य के रूप में चुने गए थे ,जिसके बाद उन्हें मंत्री के रूप में नियुक्त किया गया।
  • इसके बाद Mulayam Singh Yadav जी के द्वारा वर्ष 1992 में समाजवादी पार्टी का गठन किया गया। मंत्री के रूप में मुलायम सिंह यादव लगातार तीन बार पद में नियुक्त रहे। 5 दिसम्बर 1989 से एवं 11 मई 2007 तक वह मुख्यमंत्री के पद में नियुक्त रहे। मुख्यमंत्री के अतिरिक्त वह केंद्र सरकार के रूप में रक्षा मंत्री के रूप में भी चयनित किये गए।
  • Mulayam Singh Yadav की उत्तर प्रदेश राज्य में यादव समाज में सबसे बड़े नेता के रूप में एक अलग ही पहचान है। समाजवादी पार्टी को यूपी राज्य में एक बड़ी पार्टी के रूप में जाना जाता है। Mulayam Singh Yadav को राज्य के सभी लोग प्यार से नेता कहकर पुकारते है।
  1. 1982-1985 -विधान परिषद
  2. 1967, 1974, 1977, 1985, 1989, 1991, 1993 और 1996- विधान सभा (आठ बार)
  3. 1982-1985 -विपक्ष के नेता, यूपी विधान परिषद
  4. 1985-1987 -विपक्ष के नेता, यूपी विधान सभा
  5. केंद्रीय कैबिनेट मंत्री
  6. सहकारिता और पशुपालन मंत्री 1977
  7. रक्षा मंत्री 1996-1998
  8. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में कार्यकाल
  9. 5 दिसम्बर 1989 से 24 जनवरी 1991 तक
  10. 5 दिसम्बर 1993 से 3 जून 1996 तक
  11. और 29 अगस्त 2003 से 11 मई 2007 तक

Mulayam Singh Yadav Awards:

मुलायम सिंह यादव पुरुस्कार

International Council of Jurists की जारी विज्ञप्ति में हाईकोर्ट ऑफ़ लंदन के सेवानिवृत Judge Sir Gavin Lightman ने कहा की मुलायम सिंह यादव का इस पुरस्कार के लिए चयन प्रगति में बेझिजक योगदान देना है। साथ ही उनके द्वारा यह भी कहा गया की विधि एवं न्याय क्षेत्र से जुड़े लोगो में भाईचारा पैदा करने में मुलायम सिंह यादव का सहयोग दुनियाभर में मशहूर है।Dheat

Mulayam Singh Yadav’s Death Reason:

मुलायम सिंह यादव मृत्यु

  • 82 साल के Mulayam Singh Yadav का 22 अगस्त से गुरुग्राम स्थित मेदांता अस्पताल में इलाज चल रहा था। 2 अक्टूबर को तबीयत बिगड़ने पर उन्हें आईसीयू और बाद में क्रिटिकल केयर यूनिट (CCU) में शिफ्ट कर दिया गया। उन्हें लो-ब्लड प्रेशर और सांस लेने में तकलीफ, सीने में जकड़न समेत कई गंभीर स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो गई थीं। उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था और जीवन रक्षक दवाएं दी जा रही थीं।
  • सोमवार सुबह 10 बजने में अभी कुछ मिनट बाकी थे और समाजवादी पार्टी से वो दुखद खबर आ गई। पार्टी के ट्विटर हैंडल से अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) का एक लाइन का बयान जारी हुआ और पूरी पार्टी में शोक की लहर दौड़ गई। अखिलेश ने लिखा, ‘मेरे आदरणीय पिता जी और सबके नेता जी नहीं रहे।’ Mulayam Singh Yadav ने आज सुबह 8 बजकर 16 मिनट पर आखिरी सांस ली।

Mulayam Singh Yadav Biography Summary: मुलायम सिंह यादव संक्षिप्त जीवनी

नाम (Name) मुलायम सिंह यादव
जन्म स्थान (Birthplace) सैफई, इटावा जिला, उत्तर प्रदेश
जन्मदिन (Birthday) 22 नवम्बर 1939
निक नेम (Nick Name) नेता जी
उम्र (Age) 83 साल (निधन के समय )
मृत्यु का दिन (Date of Death) 10 अक्टूबर 2022
मृत्यु का कारण (Reason of Death) बीमारी
नागरिकता (Citizenship) भारतीय
शिक्षा  (Educational) Postgraduate (M.A.) (political Science)
कॉलेज का नाम (Collage) KK College, Etawah, Uttar Pradesh AK College, Shikohabad, Uttar Pradesh BR College, Agra University,
गृह नगर (Hometown) इटावा, उत्तर प्रदेश
धर्म (Religion) हिन्दू
जाति (Caste) अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी)
लम्बाई (Height) 5 फीट 3 इंच
वजन (Weight) 74 किलो
पेशा (Occupation) राजनेता
पार्टी का नाम (Party) समाजवादी पार्टी
वैवाहिक स्थिति Marital Status विदुर
सैलरी (Salary)
(लोकसभा सदस्य के रूप में)
 1 लाख रु.+अन्य भत्ते
कुल संपत्ति (Net Worth) 20.56 करोड़ (2019 में )
समाजवादी पार्टी आधिकारिक वेबसाइट www.samajwadiparty.in 

 

Interesting Facts about Mulayam Singh Yadav:

मुलायम सिंह यादव से जुड़े रोचक तथ्य

Mulayam Singh Yadav राजनीतिक जीवन वृत्त –
•मुलायम सिंह अपने राजनीतिक दौर में चरण सिंह की पार्टी भारतीय क्रांति दल के उम्मीदवार के रूप में बाद में वर्ष 1989 में जनता दल के उम्मीदवार के रूप में और वर्ष 1991 जनता पार्टी के उम्मीदवार के रूप में भी विधायक बने।
•उन्होंने वर्ष 1996 पहली बार सांसद बनने पर संयुक्त मोर्चा सरकार के दौरान रक्षा मंत्री का पोर्टफोलियो भी संभाला।
•मुलायम सिंह ने वर्ष 1992 में समाजवादी पार्टी का गठन किया।
•मुख्यमंत्री के रूप में उनके कार्यकाल को राज्य के ग्रामीण हिस्सों में सरकार की वितरण प्रणाली में सुधार के लिए याद किया जाता है उन्होंने गांव में सड़क बनाने और सिंचाई के लिए मुफ्त पानी उपलब्ध कराने में भी विशेष कार्य किए।
•वे अपने तीसरे मुख्यमंत्री कार्यकाल में बेरोजगारी भत्ता और कन्या विद्या धन योजना के लिए काफी सराहे जाते रहे हैं।

अन्य बातें-
•चौधरी चरण सिंह को अपने गुरु मानने वाले   ने उत्तर प्रदेश में पिछड़े वर्गों के राजनेता के रूप में प्रसिद्धि प्राप्त की।
•वह उन पहले नेताओं में से थे जो सार्वजनिक रूप से हिंदी के प्रचार प्रसार के लिए खड़े हुए और साहित्य कला व उद्योग के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले राज्य के प्रतिष्ठित व्यक्ति के कार्यों को यश भारती पुरस्कार से सम्मानित करने की शुरुआत की।
•हिंदी कवि गोपाल दास नीरज के साथ उनकी घनिष्ठ मित्रता थी।
•मुलायम सिंह पार्टी कार्यकर्ताओं और अपने अनुयायियों के बीच नेताजी के नाम से लोकप्रिय थे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *