Rajinikanth Sir की बातें जो उनको Superstar बनाती है ! Life Lessons From Rajinikanth Sir

नमस्कार दोस्तों,

Life Lessons From Rajinikanth Sir:– आज का यह ब्लॉग बेहद खास होने वाला है, क्योंकि इस ब्लॉग में सभी के चहेते Superstar Rajinikanth के बारे में कुछ ऐसी बातें बताऊंगा जिनसे आपको जीवन में बहुत कुछ सीखने को मिलेगा। मैं आपको उनकी Biography नहीं बताने वाला हूं, बल्कि मैं ऐसी घटनाओं को बताने वाला हूं जो यह साबित करतीं है कि वह वाकई में एक सुपरस्टार कहने के लायक हैं।

➠ Why Rajinikanth Sir is Superstar ?

➜ आप लोगों को लगता हो कि वह एक अच्छे Actor हैं, इसलिए उनको सुपरस्टार कहा जाता है परंतु ऐसा नहीं है , क्योंकि उनका व्यवहार ही उनको सुपरस्टार बनाता है। आपने बहुत सारी फिल्मों में उनको मसीहा के तौर पर देखा होगा परंतु वह वास्तविक जिंदगी में भी लोगों के लिए एक मसीहा की तरह ही है।

➜ इन्होंने हिमालय की आध्यात्मिक यात्रा के दौरान एक मंदिर में विश्राम किया और वहां एक खंभे से कमर लगा कर आराम से बैठे हुए थे। वहां से जाने वाली एक महिला को लगा कि यह कोई एक भिखारी है । इनकी वेशभूषा में भी किसी प्रकार की कोई अमीरी और रुतबा दिखाई नहीं देता है,बल्कि रुतबा इनके व्यवहार में दिखाई देता है। उस महिला ने इनको ₹10 दिए और इन्होंने उनको बड़ी विनम्रता से स्वीकार करते हुए उस महिला को धन्यवाद दिया। यह जाने के लिए अपनी कार की तरफ बढ़ने लगे तो उस महिला को यह देख कर बड़ा अचंभा हुआ और उन्होंने आसपास के लोगों से पूछा कि यह व्यक्ति कौन है,तो पता चला कि यह तो सुपर स्टार रजनीकांत है। वह महिला दौड़ कर उनके पास गई और माफी मांगने लगी तो रजनीकांत ने बड़ा ही अद्भुत जवाब दिया और कहा कि ईश्वर ऐसे ही इंसान को वास्तविकता के दर्शन कराता है। यह इंसान की असली औकात है कि उसके साथ कुछ भी नहीं जाता है। वास्तविक दुनिया के वास्तविक सुपरस्टार ऐसी ही मानसिकता रखने वाले होते हैं।

➜ दोस्तों एक बार सर रजनीकांत ने किसी पार्टी की तरफ से चुनाव प्रचार में हिस्सा लिया था। वही इनके विपक्ष में किसी नायिका को भी प्रचार करने का जिम्मा सौंपा गया था। विशेष कारणों की वजह से मैं यहां पर नायिका का नाम स्पष्ट नहीं कर सकता हूं। इस नए गाने प्रचार के दौरान हर एक मंच पर रजनीकांत के खिलाफ नकारात्मक बातें बोली। अपने हर एक भाषण में इनको नीचा दिखाने का भरसक प्रयास किया। ‌ दोस्तों आपको जानकर हैरानी होगी कि जैसे ही चुनाव खत्म हुआ इन नायिका को काम मिलना ही बंद हो गया। यह नायिका का एक तरीके से बेरोजगार होकर बैठ गई। दोस्तों जब रजनीकांत को इस चीज के बारे में जानकारी प्राप्त हुई तो उन्होंने अपनी आने वाली फिल्म के डायरेक्टर को कहा कि मुझे इस नायिका के लिए अगली फिल्म में रोल चाहिए। डायरेक्टर ने इन सब चीजों की संभावना को नकारते हुए कहा कि फिल्म की हर एक चीज पूरी तरह से कंप्लीट हो चुकी है। सर रजनीकांत ने अपने पूरे प्रयासों की बदौलत उस फिल्म में नायिका को रोल दिलवाया। दोस्तों जहां पर लोग अपने ही साथियों को नीचे गिराने की कोशिश में लगे हुए हैं , वहीं पर रजनीकांत खुद की बुराई करने वाले लोगों की भी खुले दिल से मदद करते हैं। जहां पूरी फिल्म इंडस्ट्री में भाई भतीजावाद फैल रहा है वही सर रजनीकांत अपने विरोधियों को भी गले लगाने की क्षमता रखते हैं। उनकी माफ करने की योग्यता को देख कर तो लगता है कि सर रजनीकांत केवल आध्यात्मिकता की बातें नहीं करते बल्कि स्वयं बुद्ध इनके हृदय में विराजमान है। ऐसे ही लोग असली जिंदगी के सुपरस्टार होते हैं और इनको लोग सदियों तक याद रखते हैं।

➠ True Care Of Fans –

मित्रों सर रजनीकांत ने 20 वर्षों तक अपना जन्मदिन नहीं मनाया। इनको जन्मदिन मनाने के लिए इनके परिवार का दबाव, इनके मित्रों का दबाव, इनके Fans का दबाव और पूरी फिल्म इंडस्ट्री का दबाव था परंतु एक विशेष कारण के चलते उन्होंने अपना जन्मदिन ही नहीं मनाया। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि एक जन्मदिन की पार्टी से लौटते वक्त‌ इनके 3 Fans की मृत्यु हो गई थी और सर रजनीकांत भीतर से इतना ज्यादा दुखी हो गई कि इन्होंने अपना भी जन्मदिन ना मनाने का निर्णय ले लिया।
दोस्तों वास्तविक सुपरस्टार वही होता है जो उस पर भरोसा करने वालों की सच्ची Care करता है। एक सच्चा सुपरस्टार अपने चाहने वालों कि हमेशा कद्र करता है।

➠ Different Industrial Ethics –

आप फिल्म इंडस्ट्री में बिजनेस की बात करें तो इनकी Ethics सबसे अलग नजर आते हैं। दोस्तों जहां बड़े-बड़े पैकेज लेने वाले अभिनेता उनकी फिल्म के फ्लॉप हो जाने पर तय किया गया एक भी पैसा निर्माताओं से नहीं छोड़ते हैं वही सर रजनीकांत अपनी एक अलग मिसाल पेश करते हैं।
दोस्तों अगर इनकी कोई भी फिल्म संभावनाओं के अनुसार जरूरी पैसे नहीं कमा पाती है,और निर्माताओं का बड़ा नुकसान होने का खतरा मंडराता है तो यह है उनको बुला कर सारा पैसा वापस लौटा देते हैं। जब जब भी इनकी फिल्म ने उम्मीद के अनुसार Perform नहीं किया तो इन्होंने सभी Distributors को बुलाकर उनका पैसा वापस लौट आने की हिम्मत दिखाई।

➠ Down To Earth Personality –

➜ दोस्तों सर रजनीकांत किसी बड़े घराने से संबंध नहीं रखते थे बल्कि एक बेहद आम आदमी थे। इनको जब भी जैसा भी काम करने का मौका मिला इन्होंने बिना कोई दिक्कत के पूरी ईमानदारी से अपना काम किया। आप सभी को पता है इन्होंने प्रारंभ में बस कंडक्टर की नौकरी भी की थी। फिल्मों में काम करने से पहले इनको तमिल नहीं आती थी तो इन्होंने तमिल सीखी और एशिया के सबसे ज्यादा Pay किए जाने वाले सुपरस्टार बने। जब कोई सर रजनीकांत से पूछता है कि इतना सब कैसे संभव हो पाता है तो वह कहते हैं मैं ईश्वर में विश्वास रखता हूं और अपने द्वारा किए गए कर्मों से चमत्कार होने में विश्वास रखता हूं। असली आज भी सर रजनीकांत किसी भी फिल्म की समाप्ति के बाद हिमालय की शरण में चले जाते हैं।
➜ दोस्तों बात करें उनकी शारीरिक बनावट की तो दुनियावी तौर पर उन में ऐसा कुछ भी खास नहीं था जो उनको एक सुपरस्टार बना सके। ना उनको ज्यादा भाषाओं का ज्ञान था और ना ही वह लंबे तगड़े मॉडल थे। उन्होंने कभी भी अपने जीवन की कमियों पर ध्यान नहीं दिया,बल्कि उन्होंने अपनी ताकतों पर ध्यान किया और उन पर लगातार पूरे आत्मविश्वास से काम किया।

➠ Habit Of Accepting Mistakes –

➜ दोस्तों फिल्म जगत के भगवान माने जाने वाले सर रजनीकांत को CBSE के सिलेबस में भी जगह दी गई है।‌ आपको क्या लगता है उनसे जीवन में गलतियां नहीं हुई । दोस्तों गलतियां सर रजनीकांत से भी हुई और वह स्वयं बताते हैं कि जब बस कंडक्टर की नौकरी करते थे तो उनको शराब पीने की बुरी लत लग गई थी। फिल्मी जगत में जाने पर उनकी यह आदत और बढ़ती गई। शोहरत और पैसा आने से उनके जीवन में बदलाव होने लगा और जगह-जगह पर वह गुस्सा करने लगे। उनके चाहने वाले और उनके Mentors ने उनको समझाया तो उन्होंने अपनी गलतियां स्वीकार की और उनसे सीख कर आगे बढ़ने का फैसला लिया। दोस्तों उनको Smoking और Drinking की इतनी बुरी लत थी,उनको सिंगापुर जाकर अपना Treatment कराना पड़ा। उनको जिंदगी में एक नया मौका दिया और उन्होंने पूरे प्यार से उसको गले भी लगाया। वहां से लौटकर रजनीकांत का जीवन पूरी तरह बदल चुका था। वह हद से ज्यादा आध्यात्मिक और विनम्र हो गए। सारी बुरी आदतें छोड़ चुके थे और एक सच्चा सुपरस्टार बनने की तरफ कदम बढ़ा चुके थे।
➜ दोस्तों हो सकता है आपका अभी बुरा समय चल रहा हो, आपको बेहद ही बेकार आदतें लगी हो परंतु जिंदगी सभी को मौका देती है और आपको वह मौका गवाना नहीं है,बल्कि उसका फायदा उठाकर अपनी बुरी आदतों को को छोड़ना है और जीवन में सफलता के पथ पर अग्रसर होना है।

मित्रों सर रजनीकांत की कहानी हमें अपनी बुराइयों और गलतियों को पीछे छोड़ कर एक महान इंसान बनने के लिए प्रेरित करती हैं। दोस्तों आपको इनकी फिल्मों को बार-बार देखने की आवश्यकता नहीं है,बल्कि इनकी वास्तविक जीवन से प्रेरणा लेने की आवश्यकता है।

Thank You!

Read More Important Articels>>

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *