बोलने की अद्दभुत कला सीखें (Learn The Art Of Speaking Easily)

नमस्कार दोस्तों,

दोस्तों आज गई है ब्लॉग होगा बोलने की कला पर (The Art Of Speaking)। बोलना आप सभी को आता है परंतु मुख्य बात यह है कि आप बोलते कैसे हैं ?
आपकी बात वाकई सच्ची है और कोई विशेष महत्व रखती है परंतु आपको उसे लोगों के सामने बोलने नहीं आता तो वह उनके लिए महत्वहीन हो जाएगी,परंतु यदि आपकी कोई बेकार बात है या फिर अनुपयोगी बात है और आप उसको लोगों के सामने बहुत ही अच्छे से रखते हैं तो वह बात भी लोगों के लिए महत्वपूर्ण हो जाएगी ।

1. Matters How You Speak –

मैं हर्षवर्धन जैन सर की एक वीडियो देख रहा था तो वह एक उदाहरण देते हैं कि आप जब वह हॉस्पिटल में किसी बीमारी का इलाज कराने जाते हैं तो कुछ डॉक्टर ऐसे होते हैं जो आपको बार-बार अपने उपकरणों से चेक करके देखते हैं चाहे आपको एक सामान्य बीमारी हो,वहीं कुछ ऐसे इंटेलिजेंट और समझदार डॉक्टर होते हैं जो केवल आपका हाथ अथवा न देखकर आप की बीमारी का पता लगा देते हैं और तुरंत आपको दवाई लिख देते हैं । अब जो डॉक्टर आपको दूर से ही दवाई लिख देता है तो आपके मन में विचार आता है कि अजीब डॉक्टर है,इसने मुझे देखा तक नहीं हो रहा है , ऐसे ही भेज दिया परंतु जो लोग आपको एक विशेष तरीके से जांचते हैं हालांकि उनको पता होता है तो आपको लगता है कि वह डॉक्टर बहुत ही ज्यादा अच्छा और समझदार डॉक्टर है । लोगों को फर्क नहीं पड़ता कि आप क्या बात बोल रहे हैं बल्कि फर्क है इससे पड़ता है कि आप कैसे बोल रहे हैं ।‌

2. Need In Professional Life –

अगर आप एक बिजनेसमैन है तो आपके लिए बहुत ज्यादा जरूरी हो जाता है कि आपको बोलना आना चाहिए अर्थात आपको भाषा का हथियार कैसे इस्तेमाल करना है इसकी जानकारी होनी चाहिए ।‌ क्योंकि किसी भी काम को करने से पहले आपको लोगों को भरोसा दिलाना होता है वह भी बिना किसी सबूत के । इस तरह की चीजें केवल तभी संभव होती हैं जब आपको अच्छे प्रकार से वार्तालाप करनी आती है ।

3. Art Of Speaking –

✔️ दोस्तों जब भी किसी चीज के बारे में बात करते हैं या किसी को समझाते हैं, तो उसका हमें पूर्ण ज्ञान होना बहुत जरूरी होता है, क्योंकि इससे हमारी बातों के अंदर आत्मविश्वास झलकता है । हमारी बातों के अंदर हमारी भावनाएं शामिल होने बहुत ज्यादा जरूरी होते हैं । लोग आपकी तथ्य हीन और फीकी बातों से कभी भी आकर्षित नहीं होते हैं और ना ही आप पर भरोसा करते हैं । अगर आप किसी को उत्साह से भरना चाहते हो तो उस वक्त आपकी भावनाओं में उत्साह नजर आना चाहिए, अगर आप किसी इंसान को जता रहे हो कि आप उससे बेहद प्रेम करते हो तो आपकी बातों में प्रेम की भावनाएं दिखाई देनी और महसूस होनी चाहिए । यहां तक कि आप हंसी मजाक कर रहे हैं तो उस दौरान सामने वाले व्यक्ति के अंदर आपकी बातों से हास्य रस जागृत होना चाहिए तभी आपकी बात प्रभावी लगेगी । आप किसी भी इंसान को जिस चीज का भरोसा दिलाना चाहते हैं, तो आपकी आंखों में भी उस चीज के लिए वह भरोसा नजर आना चाहिए।

✔️ आप किसी साथी बिजनेसमैन को या फिर अपने किसी रिश्ते में किसी को कोई ऐसी कड़वी बात कहना चाहते हो,जिससे उसका फायदा हो सकता है तो आपको वह बात कभी भी सीधे शब्दों में सामने वाले इंसान को नहीं बोलनी है ‌। आपको बात कहने के लिए किसी तीसरे पहलू का इस्तेमाल करना चाहिए अर्थात् किसी तीसरी चीज को इंगित करते हुए उसके अंजाम को समझाना चाहिए । ऐसा करने से कभी भी सामने वाले इंसान के आत्मविश्वास को या फिर कह सकते हैं अहंकार को ठेस नहीं पहुंचती है।

✔️ इसी प्रकार जब किसी इंसान को आप पर पहले से भरोसा नहीं है,और आप उसको कोई फायदा समझाना चाहते हैं तो आपको उस वक्त किसी ऐसे इंसान,किसी ऐसे उदाहरण का इस्तेमाल करना है, जहां पर आपकी बात की वजह से किसी का फायदा हुआ हो।
आप अपनी अच्छी या बुरी बात को समझाने के लिए किसी कहानी का इस्तेमाल कर सकते हैं या फिर किसी विशेष पात्र का इस्तेमाल कर सकते हैं जिससे सामने वाले इंसान को आपकी बात का मतलब भी समझ आ जाए और उस को ठेस भी ना पहुंचे ।

4. Weapon For Effective Conversation –

✔️ आइए हम इसको एक घटना का इस्तेमाल करके समझने का प्रयास करते हैं। मान लीजिए आपका साथी किसी गलत आदत की वजह से अपना जीवन बर्बाद कर रहा है तो उस वक्त अगर आप सीधा उसको बोलेंगे कि मेरे अनुसार तुमको ऐसा नहीं करना चाहिए इससे आपके जीवन में बुरा वक्त आ सकता है तो उसको लगेगा कि यह इंसान मुझे ज्ञान दे रहा है क्योंकि आप उसके लिए एक सामान्य व्यक्ति हैं ।यदि आप इसी बात को किसी पात्र का इस्तेमाल करते हुए समझाएंगे कि उस व्यक्ति ने यह सब किया था जो आज आप कर रहे हो , उसकी जिंदगी की यह दुर्दशा हुई । इस तरह अपनी बात समझाने पर उसके अहंकार को भी ठेस नहीं पहुंचेगी और उसको समझ भी आ जाएगा कि उसके लिए क्या अच्छा है क्या बुरा है ।
✔️ अब मैं आपको बातचीत के सबसे मजबूत हथियार के बारे में बताता हूं जिसका इस्तेमाल आप अपनी बात को समझाने के लिए कर सकते हैं ।
आपको लोगों को किसी विशेष बात को समझाने के लिए खुद की कहानी का इस्तेमाल करना आना चाहिए । यह खुद की कहानी तभी कुछ काम करती है जब आपने अपने जीवन में कुछ प्राप्त कर रखा हो । आप लोगों को बता सकते हैं कि मैंने स्वयं इन रास्तों को अपनाया और मैं आज इस मुकाम पर पहुंचा हूं । लोग अपनी आंखों के सामने खड़े हुए परिणाम को देखकर बहुत जल्दी विश्वास कर लेते हैं ।

5. Convince Your Friends With Art Of Speaking –

अगर आप किसी मित्र को समझाना चाहते हैं कि उसकी यह आदतें बुरी है, तो आपको बताना होगा कि आज से इतने साल पहले मैं इन आदतों का शिकार था,और मेरे जीवन में इन आदतों की वजह से इतनी सारी बुरी घटनाएं हुई ।
अगर आपका कोई चाहने वाला अपने जीवन से निरुत्साहित होकर बैठ गया है तो आपको उसके जीवन में उत्साह भरने के लिए समझाना होगा की – दोस्त, मैं भी इन परिस्थितियों से गुजरा हूं, मैंने भी आर्थिक मुश्किलों का सामना किया है, मेरे पास भी दो वक्त का भोजन खाने के पैसे नहीं थे, मेरे अंदर भी लोगों के सामने बोलने का डर था, मैं भी अपनी बात लोगों के सामने सही से नहीं रख पाता था। परंतु आज तुम देख सकते हो मैं उन सब चीजों को पीछे छोड़ चुका हूं,और यह काम तुम भी कर सकते हो क्योंकि मुझे तुम्हारे अंदर भी वो सभी चीजें दिखाई देती हैं जो मेरे अंदर मौजूद है।

6. Importance Of Facts In Speaking –

अगर आप बिजनेस में किसी को कुछ अपनी सीमा या फिर उत्पाद बेचना चाहते हैं तो आपको उत्पात से संबंधित उन सभी सवालों और समस्याओं के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए जो सामने वाला इंसान आपसे पूछ सकता है । अगर आप सामने वाले इंसान के मन में उठने वाले अधिकतर सवालों का जवाब सही प्रकार से दे पाएंगे तो वह इंसान आपकी सेवा या फिर वस्तु से संतुष्ट हो जाएगा और उसके मन में आपके लिए भरोसा कायम हो जाएगा । इसलिए मैंने आपको कहा था कि आपको अपनी बात तथ्यों के साथ रखनी चाहिए ।‌

मैं उम्मीद करता हूं कि आपको यह बातें अपने व्यापारिक जीवन में और व्यवहारिक जीवन में जरूर काम आएंगे ।

धन्यवाद !

Read More Important Articles>>

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *