Indian Polity and Indian Constitution Important Notes PDF in Hindi

Indian Polity and Indian Constitution Important Notes PDF in Hindi

Indian Polity and Indian Constitution Important Notes

Indian Polity and Indian Constitution:- नमस्कार दोस्तों, आज हम सभी प्रकार की प्रतियोगी परीक्षाओं को और भी सफल बनाने के लिए बहुत ही शानदार PDF लेकर आए हैं, यह Indian Polity Important Notes PDF in Hindi आपकी आने वाली सभी सरकारी परीक्षाओं में बहुत महत्वपूर्ण साबित हो सकती है। इस पीडीऍफ़ को आप अपने अच्छे नंबर लाने में उपयोग में ले सकते हैं, इस पीडीऍफ़ में बहुत से महत्वपूर्ण टॉपिक्स हैं जो की लगभग सभी सरकारी एग्जाम में पूछे जाते हैं, इसलिए आज इस पीडीऍफ़ को हम आपके साथ साझा कर रहे हैं। हमारी वेबसाइट हर दिन आपके लिए नए अपडेट लाती रहती है, अगर आप प्रतिदिन के अपडेट पाना चाहते हैं तो आप हमारी वेबसाइट से जुड़ सकते हैं, जिससे आपको हर दिन अपडेट मिलते रहेंगे और आप अपनी सरकारी एग्जाम की अच्छी तैयारी कर सकते हैं।

भारतीय राजव्यवस्था में पाँच भाग होते हैं, तो हम आपको बताते हैं कि वे कौन से पाँच भाग हैं जो हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं:-

1 प्रशासन
2 संविधान
3 राजनीतिक व्यवस्था
4 सामाजिक न्याय
5 अंतरराष्ट्रीय संबंध

Governance System and Bicameral Government System:

शासन प्रणाली, उस प्रकार की सरकार जिसमें कार्यपालिका को दो भागों में विभाजित किया जाता है, जिसमें एक भाग अपने कार्यों के लिए विधायिका के प्रति उत्तरदायी होता है, जबकि दूसरा भाग नहीं होता है। इस प्रणाली को 1919 के अधिनियम के तहत लाया गया था और 1935 में हटा दिया गया था और केंद्र में लागू किया गया था, जिस विधायिका में 2 सदन (उच्च सदन, निचला सदन) होते हैं उसे द्विसदनीय प्रणाली कहा जाता है।

What would be the Parliament of India?

दोस्तों आज हम आपको भारत के संविधान के बारे में पूरी जानकारी देंगे जो आपके आने वाले सभी सरकारी परीक्षाओं के लिए बहुत महत्वपूर्ण साबित हो सकती है। भारतीय संविधान प्रणाली ब्रिटिश संविधान से ली गई है, आज हम आपको बताएंगे कि संविधान क्या है और इसे कैसे बनाया गया था। भारत का संविधान 26 नवंबर को लागू किया गया था और इसके साथ ही 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है, भारत का संविधान दुनिया में देश का सबसे लंबा लिखित संविधान है, संविधान अपनी शक्ति सीधे लोगों से प्राप्त करता है।

आप सभी के लिए यह जानना बहुत जरूरी है कि भारत की संसद का गठन कैसे हुआ। भारत की संसद 3 चीजों से बनी है:-

1 लोकसभा
2 राज्य सभा
3 अध्यक्ष

इन तीनों को ही भारत की संसद मिली और मैं आपको बता दूं कि इनमें से दो आहूश और एक व्यक्ति हैं।

Indian Polity and Indian Constitution:

लोकसभा क्या है? तो आप सभी को पता होना चाहिए कि लोकसभा और राज्यसभा में क्या अंतर है, निचली संसद को लोकसभा कहा जाता है, और ऊपरी संसद को राज्यसभा कहा जाता है। अब बात करते हैं कि राष्ट्रपति कौन है? राष्ट्रपति भारत के महामहिम हैं, वे या तो देश के पहले नागरिक हैं, राष्ट्रपति और सेना, वायु सेना, नौसेना तीनों सेवाओं के साथ-साथ हम कह सकते हैं कि राष्ट्रपति के पास देश में सर्वोच्च शक्ति है, और उसे देश का मुखिया कहा जाता है, और वह कार्यकारी निकाय का मुखिया भी होता है, तब यह बनता है।

कुछ टॉपिक जो आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं, संविधान के लागू होने की तारीख से प्रत्येक व्यक्ति को इस देश का नागरिक माना जाता है, जिसका भारत के क्षेत्र में अधिवास है, और वह भारत में या उसके माता-पिता में से किसी में पैदा हुआ था। एक व्यक्ति जो भारत में पैदा हुआ है और पांच साल तक रहा है, पाकिस्तान से भारत में प्रवास करने वाले व्यक्ति को संविधान के लागू होने की तारीख से इस देश का नागरिक कहा जाता है।

इस पीडीफ़ का लिंक हमने नीचे दिया है, आप इसे आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं और ऑनलाइन अध्ययन भी कर सकते हैं, यह पीडीएफ़ हमारे संविधान से संबंधित है। जो ज्यादातर सभी सरकारी परीक्षाओं में आता है। इस PDF में आपको ऐसी जानकारी मिलेगी जो आपकी आने वाली सभी सरकारी परीक्षाओं में महत्वपूर्ण साबित हो सकती है तो दोस्तों जल्द ही हमसे जुड़ें ताकि आपको और अच्छी PDF मिल सके।

Indian Polity and Constitution Complete Notes PDF DOWNLOAD
भारतीय संविधान का निर्माण एवं विशेषताएँ PDF DOWNLOAD

आज के लेख को यही खत्म करते हैं, हम आशा करते हैं आपको यह जानकारी पसंद आई होगी, अगर हाँ तो इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ शेयर करे और अगर इस लेख में किसी तरह की कोई कमी नजर आई तो आप हमें कमेंट कर सकते हैं या अगर आपकी कोई सिकायत है तो आप हमें मेल कर सकते है हमारी मेल ID:- byjusnotes.com@gmail.com पर, धन्यवाद।

Top Categories:

NCERT

SARKARI EXAM

GENERAL KNOWLEDGE

LATEST NOTIFICATIONS

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *