How To Manage Bad Days

How To Manage Bad Days? बुरे वक़्त में खुद को कैसे संभाले ?

Art To Manage Bad Days

नमस्कार दोस्तों, दोस्तों हमें इस जिंदगी में उस पक्षी की तरह नहीं बनना है जो आते हुए शिकारी  को देखकर यह सोचे कि अगर मैं अपनी आंखें बंद कर लूंगा तो मुसीबत टल जाएगी। जिंदगी में समस्याएं आएंगी और उन से लड़ना भी पड़ेगा, मजबूती के साथ खड़े होकर रहना पड़ेगा। आपके द्वारा आंखें बंद कर लेने पर कभी भी समस्या नहीं टलती बल्कि वह और ताकत से आप पर हमला करती है।   Manage Bad Days जिस तरह लड़ाई के मैदान में मुंह छुपा लेने पर दुश्मन आपको जिंदा नहीं छोड़ता है,ठीक उसी प्रकार आपके जिंदगी में समस्याएं होती हैं जिनको देखकर आप आंखें बंद कर ले तो भी वह आपका पीछा नहीं छोड़ने वाली। उन समस्याओं को खत्म करने का सिर्फ एक तरीका होता है और वह तरीका है उन से लड़ना।

1. Always Have a Backup –

आपके जीवन में समस्याओं का पहाड़ एकदम से ना टूटे इसलिए आपको हमेशा एक बैकअप प्लान रखना होगा। अगर आपका बड़ा नुकसान हो जाता है अथवा आप किसी चीज को खो देते हैं तो उस बैकअप प्लान के सहारे आप अपनी जिंदगी को वापस से मुख्यधारा में ला सकते हैं। अगर आपके पास कुछ भी नहीं है तो कम से कम आपको विश्वास होना चाहिए कि आपके पास एक स्वस्थ शरीर है, सही सलामत हाथ पैर हैं और एक संतुलित मन है जिससे आप जीवन में आने वाली विपरीत परिस्थितियों में भी आसानी से जीवन निर्वाह कर सकते हैं। अगर आपके पास अचानक सब कुछ छीन जाए तो भी आप कर्म योगी बनकर पूरी इज्जत से अपना जीवन जी सकते हैं। ऐसा करने से आपके जीवन में बुरा वक्त आने से हो जाएगा यह संभव नहीं है, परंतु बुरा वक्त आने पर एक मजबूत स्थिति में होंगे इस बात का पूरा भरोसा रहेगा।

2. Your Psychology Defines The Level Of Problems –

आप भले ही सच ना माने परंतु आपकी जिंदगी में अधिकतर समय बुरे दिन होते नहीं है बल्कि हमारा नजरिया उन्हें बहुत बुरे दिनों में तब्दील कर देता है।
हमारे 24 घंटे के एक दुनिया कोई परेशानी सिर्फ 15 मिनट के लिए आती है और हम उसे परेशानी के बारे में पूरे 24 घंटे खराब कर लेते हैं। मैं आपको नहीं कह रहा हूं कि आपको उस परेशानी के समाधान के बारे में नहीं सोचना बल्कि मैं आपको तमाम मुद्दों से दूर रहने की सलाह देना चाहूंगा जो उस परेशानी को बढ़ाने का काम करते हैं। आपको अपनी परेशानी के समाधान ओं को भी खोजना है और साथ में बाकी कार्यों को भी पूरे कर्तव्य के साथ करना है। किसी 15 मिनट की एक परेशानी के कारण आपको अपना पूरा दिन बर्बाद नहीं करना है। हम सोच सोच कर एक छोटी सी परेशानी की वजह से अपनी पूरी जिंदगी को कोसने लगते हैं और अपने आप को यह एहसास दिलाने लगते हैं कि मेरी जिंदगी तो पूरी तरह बर्बाद हो चुकी। आपने जिंदगी में चलने वाली 100 में से 95 अच्छी चीजों को एक तरफ रख दिया है और आप केवल पांच बेकार कारणों से अपने आप को दिनभर दुखी करने का प्रयास कर रहे हो।

3. Be Hopeful with What You Have –

मान लीजिए आपके धंधे में किसी वजह से 1 दिन ₹500 का नुकसान हो जाता है तो आपको लगता है कि आपका पूरा दिन ही खराब हो गया। यहां पर पहली सोचने वाली बात यह है कि आप इस समस्या को आसानी से सुलझा सकते हैं, क्योंकि आपके हाथ पैर सही सलामत है और आप भविष्य में 500 की जगह ₹5000 भी कमा सकते हैं। यहां पर दूसरी सोचने वाली बात यह है कि आपके 1 दिन में ऐसे बहुत सारे महत्वपूर्ण क्षण होते हैं जिनकी वजह से आप खुश रह पाते हो आपने उन सभी क्षणों को दरकिनार कर दिया है। आप को प्यार करने वाले लोग आपके पास हैं, आपका स्वस्थ शरीर आपके पास है और दोनों वक्त का अच्छा खाना भी आपके पास है । आप अच्छा पानी पी पा रहे हो, सांस लेने के लिए शुद्ध ऑक्सीजन आपके पास उपलब्ध है, आपका कोई बहुत बड़ा एक्सीडेंट नहीं हुआ है, आपका कोई अपना आपको छोड़कर नहीं गया है,उसके बावजूद भी आप सिर्फ ₹500 के नुकसान में अपनी जिंदगी को कोसने लगते हो इससे बड़ी कोई मूर्खता नहीं हो सकती है। आपके 24 घंटों में आपके साथ बहुत सारी ऐसी बुरी घटनाएं हो सकती थी जो अक्सर लोगों के साथ होती रहती हैं,परंतु ऐसा कुछ भी नहीं हुआ फिर भी आप अपने आप को दुखी करने का लगातार प्रयास कर रहे हो।

4. Don’t Be Over Positive –

आपको लग सकता है कि मैं यहां पर थोड़ी अजीब बात बोल रहा हूं परंतु यह भी सत्य है कि आपको जीवन में जरूरत से ज्यादा सकारात्मक नहीं होना चाहिए अर्थात आप तो हमेशा जीवन में संभावित बुरे वक्त का अनुमान भी रखना चाहिए। जिंदगी में हर घटना आपके अनुमान के अनुसार वक्त पर होगी और आपके चाहे अनुसार होगी ऐसा संभव नहीं होता है बल्कि आपको एक कर्म योगी की तरह अपने आप को बेहतर बनाने पर ध्यान देना है। आपके अंदर सकारात्मकता होनी चाहिए परंतु ऐसी कि जब भी आपके सामने कोई संकट की स्थिति आए तो आप उसमें से भी संभावनाएं तलाश सके और जीवन में आगे बढ़ सके। अगर आपने पहले से ही सोच लिया कि मेरी जिंदगी मैं तो हमेशा अच्छा ही अच्छा होगा तो आपके बुरे दिन कभी भी खत्म नहीं होंगे और आप दिन प्रतिदिन संकट के अंधेरे में गुम होते जाएंगे। एक योद्धा का नजरिया कभी भी नकारात्मक नहीं होता परंतु वह हमेशा इस बात का ख्याल रखता है कि उसको कभी ना कभी युद्ध के लिए ललकारा जाएगा। अगर आप उस योद्धा को अचानक नींद से जगा कर भी युद्ध के लिए ललकार ते हैं तो वह पूरी तत्परता से आप का सामना करने को तैयार हो जाएगा क्योंकि उसको एक अंदेशा पहले से ही था। ठीक है वैसे ही हमें अपने जीवन में आने वाली परिस्थितियों और संकटों के प्रति Aware होना चाहिए।

5. Bad Time Doesn’t Mean You Are Lost –

दोस्त आपके जीवन में अच्छी और बुरी घटनाओं को लेकर एक खास संतुलन होना बहुत ज्यादा जरूरी है। एक सच्चाई होता जितनी शिद्दत से अपनी जीत का जश्न मनाता है उतनी ही इमानदारी से अपनी हार को भी स्वीकार करने की क्षमता रखता है क्योंकि उसको युद्ध की एक सच्चाई मालूम होती है कि किसी एक को तो हारना ही होगा। आपकी जिंदगी के युद्ध की सबसे खास बात यह है कि इसमें आप हारते नहीं है बल्कि हमेशा बुरे वक्त और बुरी घटनाओं से काफी सारी चीजें सीख जाते हैं जो आने वाले जीवन में आप को बेहतर बनाने में आपकी मदद करती है। आपको खुशियों के पल में दिल खोलकर खुशियां बनानी चाहिए परंतु बुरे वक्त का सामना करने के लिए आपको अपने अंदर एक आत्मविश्वास और साहस भी विकसित करना चाहिए। आपको आपने भीतरी मन से ही है स्वीकार करना होगा कि जिंदगी में बदला हो होता ही है अर्थात कभी हमारे साथ बहुत ज्यादा अच्छी चीजें होती हैं तो कभी बहुत ज्यादा बुरी घटनाएं भी घटित हो जाती है।

उम्मीद करता हूं आपको यह ब्लॉग पढ़कर के काफी ज्यादा चीजें समझने को मिली होंगी। एक जिम्मेदार नागरिक की दृष्टि से आप अपने चाहने वालों और परिवार वालों के साथ इस ब्लॉग को साझा कर सकते हैं जिससे उनकी भी कुछ ना कुछ मदद हो जाए।

धन्यवाद !

Read More Interesting Articles>>Click Here 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *