Chanakya Neeti For Beautiful Life

शशक्त जीवन जीने की चाणक्य नीति | (Chanakya Neeti For Beautiful Life)

नमस्कार दोस्तों,

Chanakya Neeti For Beautiful Life:- एक बार फिर से आपका हमारे ब्लॉग पर आने के लिए दिल से धन्यवाद !  आपने हमारे इस ब्लॉग पर बहुत सारे ऐसे आर्टिकल पढ़ें होंगे जो वाकई में मोटिवेशनल है और जिंदगी को बदल देने वाले हैं । इसी सीरीज में आगे बढ़ते हुए आज हम बात करने वाले हैं उन पांच बातों के बारे में जो हमें चाणक्य से सीखने को मिलती है । इन बातों का किसी भी इंसान के पैसे से या फिर किसी भी इंसान के धर्म से कोई लेना देना नहीं है बल्कि यह बातें हर एक इंसान पर लागू होती हैं । आप चाहे गरीब है या फिर चाहे आप अमीर हैं सभी लोग इन बातों को अपनाकर अपनी जिंदगी को बेहतर बना सकते हैं। यह सारी बातें नीतिगत है जो आपकी जिंदगी के हर एक पड़ाव में काम आने वाली है । मुझे उम्मीद है आपको यह Blog भी पसंद आएगा ।
( Chanakya Neeti For Beautiful Life )

1. Money –

चाणक्य कहते हैं कि आपको अपना धन बड़ा ही सोच विचार करके केवल जरूरी चीजों पर ही खर्च करना चाहिए । यह बात आप लोग अच्छी तरह से समझते हैं कि ज्यादातर चीजों का समाधान पैसे से हो जाता है । हम जितना महत्व जिंदगी में इंसानों को देते हैं उतना ही महत्व हमें पैसे को भी देना चाहिए । इसको हम एक उदाहरण से समझ सकते हैं – मान लीजिए आप घर से बाहर कहीं दूर अचानक से बीमार पड़ जाते हैं तो उस वक्त आपके पास कोई भी आपका इंसान आपकी मदद नहीं कर सकता परंतु यदि आपके पास पैसा है तो आप आसानी से अपना इलाज सही समय पर करवा सकते हैं और खुद को बचा सकते हैं । हम जितना 1 महीने में कमाते हैं हमको कभी भी उससे ज्यादा खर्च नहीं करना चाहिए बल्कि अपना धन बचाने की कोशिश करनी चाहिए ।
जिन वस्तुओं का आपकी जिंदगी में कोई महत्व नहीं है या फिर जिन वस्तुओं से आपकी जिंदगी को कोई विशेष अर्थ नहीं मिलता ऐसी वस्तुओं पर अपना धन खर्च नहीं करना चाहिए ।

2. Arguments –

आपको जीवन में कभी भी मूर्ख लोगों को कोई बात साबित करने के लिए वाद विवाद नहीं करना चाहिए । ऐसे लोगों से आप चाहे कितनी भी बहस कर ले वह लोग आपकी बात कभी नहीं समझेंगे बल्कि आप अपने जरूरी ऊर्जा को नष्ट कर देंगे । ऐसे लोगों से वाद-विवाद करने पर आप स्वयं भी हंसी का पात्र बन सकते हैं या फिर आपको बेइज्जती का सामना करना पड़ सकता है । इसलिए हमेशा कोशिश करें कि समझदार लोगों में ही बैठे और ज्यादा से ज्यादा काम की बातें करें । अगर किसी कारणवश आप ऐसे लोगों के बीच में फस भी जाते हैं तो कोशिश करें आप ज्यादातर समय चुप रहें और अपना समय निकालें ।

3. Friendship –

चाणक्य ने मित्रता के बारे में कहा है कि कभी भी आपको अपने से कम या फिर ज्यादा पौधे वाले व्यक्तियों या फिर प्रतिष्ठा वाले व्यक्तियों के साथ दोस्ती नहीं करनी चाहिए । चाणक्य से इसलिए कहते हैं क्योंकि जब आप की दोस्ती किसी कम प्रतिष्ठा वाले या फिर कम होने वाले इंसान से होगी तो वह इंसान हमेशा आपसे कुछ ना कुछ मदद की उम्मीद लगाकर रखेगा और जरूरत पड़ने पर आप भी उससे कोई मदद नहीं ले पाएंगे । वहीं अगर आपकी मित्रता आप से अधिक प्रतिष्ठा या पौधे वाले व्यक्ति से होगी तो आप ज्यादातर समय खुद को कमतर महसूस करेंगे और हो सकता है आपके अंदर ईर्ष्या की भावना भी आ जाए । इस तरह आप दोनों ही परिस्थितियों में खुश नहीं रह पाएंगे ।
मेरा स्वयं कभी यह मानना है कि आपके जीवन में जिस तरह के उद्देश्य हैं और आप जिस तरह के विचार रखते हैं आपको मित्रता भी ऐसे ही लोगों से करनी चाहिए जिनके उद्देश्य और विचार आपसे संभवत या मिलते जुलते हो ।

4. Attachment –

आचार्य चाणक्य कहते हैं कभी भी आपको किसी इंसान से अत्यधिक लगाओ यह मोह माया नहीं रखनी चाहिए । यह चीज आप आज के परिवेश में भी आसानी से देख सकते हैं कि लोग पैसे,भूख या फिर अन्य सुख सुविधाओं से उतनी चिंता या दुख में नहीं रहते जितने कि लोग रिश्तो की वजह से चिंता और तनाव में रहते हैं । एक बात सार्वभौमिक सत्य है कि इस दुनिया के अंदर कोई भी चीज यह इंसान हमेशा एक जैसी नहीं रह सकती । इसलिए जब हमारा किसी इंसान से जरूरत से ज्यादा लगाओ हो जाता है तो उस इंसान के अंदर अगर जरा भी बदलाव आता है तो हमें बहुत ज्यादा दुख का सामना करना पड़ता है । आज के समय में किसी भी इंसान के आचार विचार लंबे समय तक एक जैसे नहीं रहते हैं ऐसे में आपका लोगों से जरूरत से ज्यादा उम्मीद करना आपको तकलीफ में डाल सकता है । अत्यधिक मोह माया और लगाव के कारण आपके अंदर हमेशा भय और चिंता बनी रहती है ।

5. Secret Of Weakness –

आचार्य चाणक्य बताते हैं कि एक बात का हमेशा ध्यान रखना चाहिए हमें कभी भी अपने जीवन के महत्वपूर्ण राज या फिर रहस्य किसी भी इंसान को नहीं बताना चाहिए चाहे वह इंसान आपका कितना भी ज्यादा चाहता हूं या फिर आपसे प्यार करता हो । बहुत बार यह देखा जाता है कि हम जरूरत से ज्यादा भरोसा कर किसी भी इंसान को अपनी कमजोरियों के बारे में भी बता देते हैं जो कि हमें आगे जाकर बहुत ज्यादा तकलीफ देती है । लोग अपने फायदे के लिए उन कमजोरियों को ढाल बनाकर आप का इस्तेमाल कर सकते हैं और आपके ऊपर संकट आ सकता है । इसलिए कभी भी अपने जीवन के रहस्य और अपनी कमजोरियों को किसी भी इंसान के सामने प्रकट ना करें चाहे वह इंसान आपसे कितनी भी मोहब्बत रखता हो ।

6. Living In Present –

मुझे बहुत सारे लोगों से यह सुनने को अक्सर मिलता है कि, हमारा आज का दिन अच्छा जाना चाहिए भविष्य का सोच कर के हमें परेशान नहीं होना चाहिए। परंतु इस बारे में मेरा मानना है कि आपका आज इसलिए अच्छा बीत रहा है, क्योंकि इस आज के लिए आपने अपने भूतकाल में कुछ ना कुछ जरूर अच्छा काम किया है । तो यहां पर चाणक्य कहते हैं कि हमें वर्तमान में जीने का भरसक प्रयास करना चाहिए जिसका तात्पर्य यह है कि हमें अपने वर्तमान में वह सारे अच्छे काम करने चाहिए जिनसे हमें खुशी भी मिले और हमारे भविष्य की एक सुदृढ़ नींव रखी जा सके ।
मेरा व्यक्तिगत विचार यह है कि हमें कभी भी अपने आज को अच्छा बनाने के लिए किसी दूसरे का आज खराब नहीं करना चाहिए अर्थात हमारी खुशी के लिए जो भी हम करते हैं उससे किसी अन्य व्यक्ति या जीव का किसी भी प्रकार का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए ।

इस Blog को पूरा पढ़ने के लिए आपका दिल से धन्यवाद और मैं आशा करता हूं कि आप अपने जीवन में इन नीतियों को अपनाकर एक मजबूत और सशक्त भविष्य का निर्माण करेंगे।

धन्यवाद !

Read More Blog’s>>

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *